किसान ऋण मोचन योजना उत्तर प्रदेश | Kisan Rin Mochan Yojana in Hindi

किसान ऋण मोचन पोर्टल|किसान ऋण मोचन योजना, किसान ऋण मोचन योजना उत्तर प्रदेश, Kisan Rin Mochan portal, Kisan Rin Mochan portal up in Hindi, Kisan Rin Mochan yojana up in Hindi. Kisan Fasal Rin Mochan Portal online registration किसान ऋण मोचन योजना उत्तर प्रदेश फसल ऋण माफी लिस्ट 2019 up farmers loan waiver scheme Uttar Pradesh Kisan karj mafi list Agra Lucknow faizabad KCC Loan Mochan Yojana Name Final List 2017-18 upkisankarjrahat.upsdc.gov.in Kisan Fasal Rin Mochan yojana farmers Loan Subsidy CM Yogi loan waiver portal uttar pradesh Kisna rin mafi list Online Apply.

उत्तर प्रदेश के किसानों के लिये एक बहुत ही अच्छी खबर लेकर आये हैं दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि उत्तर प्रदेश में बहुत बड़ी संख्या में लोग किसानी यानि कृषि से जुड़े हैं। दोस्तों कई बार भरी बारिश या किसी अन्य कारण की वजह से किसानो को भारी नुकशान हो जाता है। जिसकी वजह से उनपे कर्ज़ा हो जाता है तो दोस्तों इसी कर्ज़े से रहत देने के लिये सरकार द्वारा किसान ऋण मोचन योजना शुरू की गयी है। इस योज़ना के अंतर्गत पात्र किसानों का एक लाख तक का ऋण माफ़ किया जायेगा जिससे किसानों को काफी रहत मिलेगी।

उत्तर प्रदेश किसान ऋण मोचन योजना

दोस्तों देश की तरक्की में किसानो का बहुत बड़ा हाथ होता है एक किसान की वजह से ही हमें कई तरह की फसल और अन्न खाने को मिलता है। तो ऐसे अगर किसान कर्ज़े में दबा रहेगा तो न तो वो काम कर पायेगा न हमें फसल उगा के दे सकेगा तो ऐसे तरक्की की तो बात ही न करें। तो इसी सोच के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक अहम फैसला लिया है और इसके लिए उन्होंने एक नयी योजना (किसान ऋण मोचन योजना) शुरू की है। इसके साथ ही उन्होंने जिलाधिकारी को किसानों के ऋण से सम्बंधित जानकारी बैंकों से इकठ्ठा करने का आदेश दिया है। इसके साथ ही जिन किसानो के आधार कार्ड अभी तक नहीं बने हैं तो कैंप लगाकर उनके आधार कार्ड बनवाने के भी आदेश दिए हैं।

kisan rin mochan yojna

FARMER LOAN REDEMPTION SCHEME UTTAR PRADESH

दोस्तों इस योजना के तहत 12,61,225 किसानो को लाभ मिलेगा। उत्तर प्रदेश सरकार सभी किसानो का केवल 75 प्रतिशत ऋण भुगतान करेगी और बाकी 25 प्रतिशत बैंक माफ करेगी। यहाँ आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत सिर्फ जिला सहकारी बैंक के द्वारा लिए गए ऋण ही माफ किए जाएंगे। सरकार के इस फैसले से किसानो के बंद पड़े खाते फिर से शुरू हो सकेंगे और वे ऋण लेने के पत्र हो सकेंगे।

इस प्रकार होगा एनपीए ऋण माफ

इस योजना के तहत किस तरह ऋण माफ़ किया जायेगा और क्या क्या करना होगा उसकी सभी की जानकारी के लिए कुछ महत्वपूर्ण जानकारी बता दें कि –

  • इस योजना के तहत मात्र एक लाख रु का ऋण माफ किया जायेगा
  • ऋण माफी राशि 25%  किसानों को उसके खाते मे जमा कराना होगा फिर सरकार द्वारा आपके लिए पैसा आपके अकाउंट में भेजा जायेगा।
  • अगर कोई किसान पहले पैसे जमा नहीं करायेगा तो उस किसान को इस योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा।
  • अगर किसी किसान का ऋण 1 लाख से ज्यादा है तो बैंक और किसान को एक तय की गयी राशि पर समझौता करना होगा जिससे किसान का कर्ज माफ हो सकेगा।
  • इससे अधिक और सही जानकारी के लिए किसान अपने बैंक मे संपर्क कर सकते हैं।

ब्याज माफी का फॉर्मूला 1st Category: इस Category के अंतर्गत केवल उन्ही किसानों को सम्मिलित किया गया है जिन्होंने 31 मार्च 1997 तक ऋण लिया था तो ऐसे किसानों से 31 मार्च 1997 जितना मूलधन था सिर्फ वो हो लिया जायेगा।

ब्याज माफी का फॉर्मूला द्वितीय Categoryइस Category में एक अप्रैल 1997 से 31 मार्च 2007 तक ऋण लेने वाले किसानों को शामिल किया गया है। वह किसान ही योजना में शामिल होंगे जिनके खाते 30 जून 2017 तक एनपीए/नॉन परफॉर्मिंग एसेट घोषित हो चुके हैं।

ब्याज माफी का फॉर्मूला तृतीय Category: इस Category में एक अप्रैल 2007 से 31 मार्च 2012 तक ऋण लेने वाले तथा 30 जून 2017 तक एनपीए घोषित किसान शामिल होंगे। इन किसानों को मूलधन पूरा जमा करना है।

उत्तर प्रदेश में फसल ऋण मोचन योजना के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

Step 1: जो किसान इस योजना के पात्र है तो सबसे पहले किसान ऋण मोचन योजना उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है

Step 2: अगर आपने पहले से ही इस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराया हुआ है तो उसके लिए आपको अपनी यूजर ID और पासवर्ड डालकर लॉगिन करने के लिए “लॉगिन” बटन का उपयोग कर सकते है।

Step 3: नया रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको इस वेबसाइट पर जाना है और उसके बाद वेबसाइट पर मांगी गयी जानकारी सही सही से उपलब्ध करा के अपना अकाउंट बना सकते हैं। रजिस्ट्रेशन होने के बाद ऋण माफी के लिए रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरा जा सकता है।

Step 4: ऋण माफी रजिस्ट्रेशन फार्म में नाम, आयु, संपर्क विवरण, बैंक खाता, आधार संख्या और भूमि और ऋण के विवरण जैसे जानकारी की आवश्यकता होगी।

Step5: सभी जानकारी को भरने और सत्यापित करने के बाद, “सबमिट करें” बटन पर क्लिक करें। सत्यापन प्रक्रिया बाद में विभाग द्वारा शुरू की जाएगी।

फसल ऋण मोचन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

योग्य किसानों को कम से कम निम्न दो दस्तावेज जमा करने होंगे:-

1. आधार कार्ड
2. किसानों के भूमि पत्र
3. इस योजना के लिए बैंक खाता संख्या और विवरण की भी आवश्यकता होगी।

ऋण मोचन योजना के बारे में

सरकार द्वारा शपथ ग्रहण करने के बाद अपनी पहली ही कैबिनेट बैठक में अपने संकल्प पत्र में किये गये वायदे के मुताबिक किसानों का कृषि ऋण रूपये एक लाख तक माफ करने का निर्णय लिया। इस ऋण को माफ किये जाने के लिए सरकार द्वारा निर्णय लिया गया कि एन.आई.सी उत्तर प्रदेश द्वारा विकसित आनलाइन पोर्टल के माध्यम से प्रदेश के किसानों द्वारा 31-03-2016 तक लिये गये कृषि ऋण का विवरण बैंकों के माध्यम से आनलाइन फीड कराकर तहसील स्थिति राजस्व विभाग के अधिकारियों एवं बैंक अधिकारियों की टीम बनाकर इसका गहन सत्यापन कराकर इस ऋण माफी योजना को साकार किया जाय।जिससे कि कोई भी उचित किसान इस योजना से शेष न रह जाय , तथा कोई गलत किसान इसका लाभ न ले पाये। योजना को पूर्ण पारदर्शिता के साथ लागू करना सरकार का उद्देश्य है।

महत्वपूर्ण लिंक

  • http://upkisankarjrahat.upsdc.gov.in/Go.html
  • http://upkisankarjrahat.upsdc.gov.in/img/FAQ.pdf
  • http://upkisankarjrahat.upsdc.gov.in/Policy.html

ऋण मोचन पोर्टल Contact:

  • नोडल अधिकारी,जिला कृषि अधिकारी के मोबाईल नं. 9235209436,
  • जिला अग्रणी प्रबंधक के मोबाईल नं. 9412626279 पर सम्पर्क कर समाधान कर लें।
  • किसान ऋण मोचन योजना उत्तर प्रदेश की किसी भी सहायता के लिए संपर्क सूत्र = 0522-2235892, 0522-2235875, 0522-2235855, 0522-2235846

अपने ऋण माफी की शिकायत की स्थिति देखे।

ऋण माफी ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने हेतु क्लिक करे (नॉन एन० पी० ए० हेतु)

ऋण माफी ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने हेतु क्लिक करे (एन० पी० ए० हेतु)

दोस्तों आशा करते हैं ये जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण होगी अगर किसान ऋण मोचन योजना से सम्बंधित आपका कोई प्रश्न है तो आप कमेंट के माध्यम से पुच सकते हैं हमारी टीम आपके सवाल का ज़रूर जावाब देने की कोशिश करेगी।

Leave a Comment